har din kuch naya sikhe

हर दिन कुछ नया सीखें।

9/10/2021

चिंता करना बंद कैसे करें

By:   Last Updated: in: ,

 चिंता करना बंद कैसे करें 

chinta karna kaise band kare;आज के दौर में चिंता करना एक आम सी ही बात हो गई है। हम मे से सभी को किसी न किसी चीज को लेकर कोई ना कोई चिंता तो रहती ही है। बस समझ लीजये की अगर कोई इंसान ज्यादा मायूस है ज्यादा मायूस होकर आपसे बाते करता है तो उसको कोई ना कोई चिंता जरूर है इसे वजह से वह इंसान उदास रहता है। 

इस article मे हम जानेंगे, अगर किसी भी बात की चिंता हो तो क्या करे? चिंता करने के क्या नुकसान है? चिंता मुक्त जीवन कैसे जिए, चिंता करना कैसे छोड़े या चिंता से छुटकारा कैसे पायें? चिंता करना बंद कैसे करें या चिंंता करना बंद कैसे करें?

जो इंसान ज्यादा चिंता करता है उस इंसान को ज्यादा तर मानसिक बीमारी जरूर होती है। अगर आप को कोई मानसिक तकलीफ हो तो आपका शरीर भी ठीक नहीं रहेगा। मुद्दे की बात करे तो आपको चिंता करने के सिर्फ नुकसान ही नुकसान है कोई भी फायदा नहीं है। और कोई फायेदा नहीं है सिर्फ नुकसान ही नुकसान है तो वह चिंता करने का कोई भी मतलब नहीं बनता है इसलिए आप चिंता मुक्त जीवन जिए और खुश रहने की कोशिश करें। 

अगर आप चिंता मुक्त जीवन जीना चाहते हैं पर कभी ना कभी कोई ना कोई आप पर दुःख आ ही जाता है। उन दुखो की चिंता से अगर आप सामना करना चाहते हो तो इस article को पूरा पढ़े। इस article में हम आपको कुछ ऐसे नुस्कें बतायेंगे जिन से आप अपनी चिंता को अपने से दूर कर पाएंगे।

चिंता करना छोड़नें के लिए हमारी इन बातों को ध्यान से पढ़े-- 

1. अपनी सोच को सकारत्मक रखे

चिंता का सिर्फ एक ही कारण होता है और वो है नकारत्मक सोच। गलत सोच से मेरा यह मतलब नहीं है कि आप की सोच बुरी है मेरे कहने का सिर्फ यही मतलब है कि आप जो भी काम करते हैं तो उस काम को लेकर आपके विचार गलत हो जाते हैं आप कुछ ज्यादा ही सोचने लग जाते हैं। सोचना कोई बुरी बात नहीं होती है काम शुरू किया है तो उसके बारे में सोचना तो होगा ही। पर मुश्किल तो तब आती है जब आप उस काम के लिए गलत सोचना शुरू कर देते हैं यही सोच ही आगे जाकर आपकी चिंता का कारण बनती है अगर आप सोचेगे की आपने जो काम किया है उसका फल आपको मिलेगा के नहीं फल मिलने में इतनी देरी क्यों हो रही है आपका काम आगे चलेगा के नहीं। इन सब बातों से कुछ भी नहीं होने वाला है आपको उस काम का फल आपकी मेहनत के नतीजे पर मिलेगा ना की अपनी सोच के नतीजे पर। इस लिए चिंता मुक्त रहने के लिए जरूरी है कि आप सकारात्मक जीवन जीने के बारे में सोचे।

यह भी पढ़ें; हमेशा सकारात्मक कैसे बने?

2. जो होना है वो होकर ही रहेगा

अगर आप को चिंता मुक्त रहना है तो आप अपने मन में यह बात को बिठा लीजिये की जीवन में जो कुछ भी हो रहा है या जो कुछ भी होगा वह सब कुछ तय ही है आप उसको बदल नहीं सकते हो? आप अपने कल के चक्कर में अपना आज मत ख़राब होने दे। अगर आप पर कोई भी दुख आये तो आप सिर्फ इतना सोचिये की शायद इस से भी बुरा हो सकता था मगर इतने में ही हो गया। जीवन में जो कुछ भी हो उस से घबराए नहीं उसका डट कर सामना करे उसके ऊपर चिंता करने से कुछ भी नहीं होगा। चिंता करने से सिर्फ तकलीफ ही बढ़ती है उसका हल नहीं मिलता है। चिंता एक ऐसा कीड़ा है जो आपको अंदर ही अंदर से खोखला कर देता है। चिंता एक गलत सोच की ही वजह से होती है बस आप अपनी सोच अच्छी रखे आपको फिर चिंता नहीं रहेगी। अगर आप चिंता ही करते रह जायेंगे तो जीवन में कभी भी सफल नहीं हो पाएंगे और ना ही अपने जीवन को अच्छे से व्यतीत कर पाएंगे।

यह भी पढ़ें; खुश कैसे रहे? हमेशा खुश रहने के 5 जबरदस्त स्टेप्स

3. चिंता के नुकसान अनेक

जीवन में चिंता ही 70 प्रतिशत बीमारियों की जड़ है। चिंता से लगभग सभी बीमारियां तकलीफे शुरू होती है जो इंसान ज्यादा मायूस है ज्यादातर सोच में डूबा रहता है आप समझ जायेगा की उसे कोई ना कोई तो चिंता जरूर है। जो इंसान ज्यादा मायूस रहता है वो इंसान 99% लोगों को पसंद भी नहीं आता 1% में भी उसके घर वाले ही होते हैं जो ना चाहते हुए भी उसकी हरकतों को पसंद करते हैं। चिंता के कारण बहुत सारी मानसिक तकलीफे होती हैं जो आपके शरीर पर भी असर डालती है। और अगर आपका शरीर ही स्वस्थ नहीं रहेगा तो आप सफलता की राह पर चल ही नहीं पाएंगे। अगर आप को सफलता प्राप्त करनी है तो आपको अपने शरीर को स्वस्थ रखना होगा और शरीर को स्वस्थ रखने के लिए अपने दिमाग को शांत करना होगा और उसके लिए आपको चिंता मुक्त होना होगा में आपको नुकसान इसलिए बता रहा हूं क्योंकी 80% लोग नुकसान सुनते ही उस काम को छोड़ देते हैं जो नुकसानदेय हो।

4. अपने दिल की सुने

आपको जभी भी कोई चिंता हो तो आपको अपने दिमाग से ज्यादा आपके दिल की सुननी चाहिए आपको जो भी अच्छा लगता है आपको वो चीज़ करनी चाहिये आपको कही घूमने से सकून मिलता है तो आप कही घूमने चले जाये आपको अगर संगीत का शौक है तो संगीत सुन लाजिये यह सबसे आसान तरीका है चिंता मुक्त जीवन व्यतीत करने का। जब तक आप दुनिया की परवाह करते रहेंगे तब तक आप चिंता में घिरे रहेंगे आप अपने मन में कोई भी बात ना रखे अगर किसी की बातों से आपको कोई चिंता होती है या आपका दिल दुखता है तो उस व्यक्ति को जरूर बोले बोलने से आपका मन ही हल्का होगा अगर आप चुप रहेंगे तो अंदर ही अंदर तड़पते रहेंगे। 

अगर आप चिंता मुक्त जीवन जीना चाहते हैं तो इन बातो को अपने जीवन में उतारे और इन्हें अपने जीवन का नियम बना ले तभी आप चिंता मुक्त जीवन व्यतीत कर पाएंगे अंत में मै आपसे बस इतना ही कहना चाहता हूँ कि चिंता करने से आपका क्या किसी का भी भला नहीं होने वाला है। इस लिए चिंता मुक्त रहे और आपको हमारा यह article चिंता करना कैसे छोड़े? पसन्द आया हो तो हमे नीचे दिए comment box में comment करके जरूर बताये और अपने दोस्तों के साथ शेयर भी जरूर करे, धन्यवाद।

हमारे अन्य लेख भी पढ़ें  

4 टिप्‍पणियां:
Write comment

अपने विचार, सवाल या सुझाव हमें comment कर बताएं हम आपके comment का बेसब्री इंतजार कर रहें हैं।