Har din kuch naya sikhe

Learn Something New Every Day.

3/13/2021

आत्मविश्वास कैसे बढ़ाये? आत्मविश्वास बढ़ाने के 7 सबसे जबरदस्त तरीके

By:   Last Updated: in: ,

स्वागत है आप सभी का हमारी इस पोस्ट aatmvishwas kaise badhaye मे यह सीखना कि हमारा आत्मविश्वास कैसा होना चाहिए, अपने आत्ममविश्वास मे वृद्धि कैसे करेें? यह हमारे जीवन का सबसे अहम और महत्वपूर्ण हिस्सा है। आत्मविश्वास आपको इस दुनिया का शक्तिशाली नेता बना सकता है। बिना आत्मविश्वास के इस दुनिया मे कोई भी सफल नही हो सकता। आत्मविश्वास (SELF CONFIDENCE)  एक ऐसा अहसास है जो हमारे व्यक्तित्व को उबारता है। आत्मविश्वास से हमारी स्वयं के प्रति जिम्मेदारियों का पता चलता है। आत्मविश्वास एक ऐसा भाव है जिससे स्वयं की ओर सकारात्मकता का भाव उत्पन्न होता है। आत्मविश्वास से हमें अपनी स्वयं के प्रति अहमियत का भी पता चलता है और जिंदगी में आत्म सम्मान का होना बेहद जरूरी है। आज की हमारी पोस्ट में हम आत्मविश्वास की बात करेंगे। जिसमें जानेंगे की आत्मविश्वास और आत्म सम्मान क्या है? आत्मविश्वास को कैसे बढ़ायें? 

आत्मविश्वास क्या है? (What is self confidence in hindi)

आत्मविश्वास का अर्थ स्वयं के भीतर विश्वास होने से है। जीवन में किसी भी कठिन परिस्थिति आने पर भी अगर उसका शांत और समझदारी से सामना किया जाए तो उस स्थिति में व्यक्ति का आत्मविश्वास झलकता है। किसी भी कार्य को पूर्ण करने के लिए आत्मविश्वास का होना बेहद जरूरी है क्योंकि एक आत्मविश्वासी व्यक्ति ही जीवन की सफलताओं को हासिल कर सकता है। आत्मविश्वास से व्यक्ति का आत्मविश्वास बढ़ता है तथा समाज में उसकी ओर सम्मान की दृष्टि से देखा जाता है। एक स्वस्थ और अनुशासित व्यक्ति में आत्मविश्वास भरपूर मात्रा में होता है क्योंकि एक स्वस्थ मस्तिष्क ही हर कार्य को पूरा करने के लिए अलग रणनीतियां अपनाता है और उस कार्य में दक्ष भी हो जाता है जिससे लोगों का उस व्यक्ति की ओर आकर्षण बढ़ता है। 

आत्मसम्मान क्या है? (What is Self Respect in hindi)

आत्मविश्वास क्या है इसको अगर हम देखें तो यह कहीं न कहीं आत्मसम्मान से जुड़ा हुआ है क्योंकि आत्मसम्मान को अगर हम पहचाने लेंगे तो खुद ही हमारे भीतर आत्मविश्वास की वृद्धि होगी। आत्मविश्वासी व्यक्ति यदि अपने आत्मसम्मान की रक्षा करना जानते हैं तो उसे अपने भीतर आत्मविश्वास की कमी कभी महसूस नहीं होगी। 

आत्मविश्वास कैसे बढ़ाएं

आत्मसम्मान (Self Respect) का सरल अर्थ समझे तो इसका मतलब है कि स्वयं यानि खुदका सम्मान करना और स्वयं को समझना। आत्मसम्मान के लिए बेहद आवश्यक है आत्मविश्वास का होना क्योंकि आत्म-विश्वास से ही हमें स्वयं पर भरोसा करने की प्रेरणा मिलती है। स्वयं के महत्व को जानना बहुत ज़रूरी है क्योंकि इस भीड़ भरी दुनिया में हम भूल ही चुके हैं कि हमारा स्वयं के प्रति भी कुछ फर्ज है। अपना ख्याल रखना और स्वयं का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। जो व्यक्ति स्वयं का सम्मान करता है उसे ही समाज से सम्मान प्राप्त होता है। उदाहरण के लिए  यदि एक ऑफिस में एक व्यक्ति काम करता है और उसका बॉस  यदि उसे निरंतर नकार देता है या डांटता है तथा उसके बावजूद भी यदि वो फिर भी अपने इस अपमान का जवाब नहीं देता है तो इसे उसके साथ काम कर रहे लोगों पर भी नकारात्मक प्रभाव पड़ता है और वह भी उस व्यक्ति का सम्मान करना छोड़ देते हैं इसलिए आवश्यक है अपने आत्मसम्मान(Self Respect) की रक्षा करना और अपने आत्मसम्मान के लिए हमेशा आवाज उठाना। ताकि आपके खिलाफ कोई नकारात्मक दृष्टि से न देखें। अपने आत्मसम्मान के प्रति सकारात्मक भाव रखना उतना ही महत्वपूर्ण जितना कि मन की शांति और मन की शांति तभी संभव है जब आप खुद को खुश रखना जानते हों। 

अगर किसी व्यक्ति के आत्मसम्मान को ठेस पहुंचाई जाती है तो वह बहुत अपमानित महसूस करता है और उसमें बदले की भावना जाग जाती है परंतु यह चीज सही नहीं है क्योंकि खुद के अहंकार पर काबू होना भी बेहद जरूरी है। अहंकार व्यक्ति में आत्मविश्वास की कमी लाता है। यदि अहंकार में आकर कोई ग़लत क़दम उठाया जाए तो समाज भी आपकी कदर करना छोड़ देता है। इसलिए कभी भी ऐसा फैसला न ले जिससे आपके आत्मसम्मान में कमी आएं। अपने प्रति स्वयं के महत्व को समझें। 

अगर बात करें की आत्मविश्वास और अंहकार इन दोनो मे क्या अंतर है? तो इन दोनों मे केवल इतना ही अंतर है कि यदि आप कहते है की मैं श्रेष्ठ हूं तो यह आप आत्मविश्वास है, और यदि आप यह कहते है कि केवल मैं ही श्रेष्ठ हूँ तो यह आपका अंहकार है।

आत्मविश्वास कैसे बढ़ाये? (how to improve self confidence in hindi)

जिंदगी में शांति और सुख का भाव उतना ही ज्यादा होगा। आत्म सम्मान से एक नई ऊर्जा का संचार हमारी जिंदगी में होता है। आत्म सम्मान के बल पर ही हम अपना अस्तित्व बनाते हैं और बिगाड़ते भी है। इसलिए जरूरी है कि आप ऐसी क्रियाएं करें जिससे आपका आत्म सम्मान बढ़े न कि आपके आत्मविश्वास में कमी आए। हमारी पोस्ट आत्मविश्वास कैसे बढ़ाएं से आप अच्छे तरीके जान सकेंगे जिससे आपकी आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। अपने आत्मविश्वास को बढ़ाने के लिए इन 7 तरीकों को फाॅलो करें--

1. परफेक्ट बाॅडी लैंग्वेज 

आत्मविश्वास को बढ़ाने के लिए एक परफेक्ट बाॅडी लैंग्वेज का होना भी बेहद जरुरी है। इस दुनिया मे जितने भी सफल लोग है, उन सभी की हमेशा सकारात्मक भाषा होती है। सीधे खड़े होकर बोलने से पहले सीधे आँखो से संपर्क करे, और अपने शरीर तथा मन को आत्मविश्वास महसूस होने दे। 

2. खुद की सराहना करें 

कृतज्ञ होना एक ऐसी चीज है जिसकी मन को सबसे अधिक आवश्यकता होती है। खुद की सराहना करने के लिए हर दिन कुछ न कुछ अच्छा करने के लिए समय निकालें। इसके लिए आप दूसरों की मदद कर सकते है, जरूरत मदद्  की मदद कर सकते है। 

3. अपनी ताकत को पहचाने 

आपके अंदर क्या गुण है यह तो आप ही जानते है परंतु यदि आप अपनी शक्तियों को नहीं जानते तो आप अपने रिश्तेदारों और दोस्तों से मिले जो आपको आपके गुणों के प्रति सचेत करेंगे और बताएंगे कि आप किन‌ कामों में ज्यादा कुशल है। जब आपको इन सब बातों का अनुभव हो जाएं तो उस पर ध्यान दें और अपने आत्मविश्वास को बढ़ाए। 

4. सकारात्मक 

जीवन के प्रति आशा और सकारात्मकता का भाव ही सफलता की कुंजी है। आत्मविश्वास इस बात पर भी निर्भर करता है कि आप अपने जीवन में आई परेशानियों और दिक्कतों से कैसे निपटते हैं। एक सकारात्मक भाव ही आत्मविश्वास को दृढ़ बनाता है। यदि आप मुश्किलों को देखकर दुखी हो जाते हैं तो यह आपके आत्मविश्वास की कमी को दर्शाता है और इससे लोग भी आपको कमजोर समझते हैं और आपके अंदर आत्मविश्वास की कमी को पाता है वहीं दूसरी तरफ जो व्यक्ति परेशानियों के प्रति भी सकारात्मक भाव रखता है और उसका हल अपनी सूझबूझ से निकालता है तो ऐसे में लोग उस व्यक्ति को मानसिक रूप से मजबूत मानते हैं तथा उसके प्रति सम्मान की भावना से भी देखते हैं। इसलिए जिंदगी में सकारात्मक परिवर्तन लाए ताकि समाज भी आपकी तरफ सम्मान की दृष्टि से देखें।

5. अच्छी नींद का लेना आवश्यक 

आत्मविश्वास की वृद्धि के लिए आवश्यक है अच्छी नींद का होना। यदि आप सही समय पर सोते हैं तो आप मानसिक तथा शारीरिक दोनों रूप से स्वस्थ रहते हैं। इसलिए आप अपना आहार संतुलित रखें तथा भोजन के दौरान टीवी तथा मोबाइल इत्यादि चीजों से दूर रहें।

6. पहनावा 

पहनावा ही आपके व्यक्तित्व को दर्शाता है। आत्मविश्वास को बढ़ाने के लिए आपको अपने पहनावे पर ध्यान देना होगा। यदि पहनावे आपके शारीरिक रूप और रंग के अनुरूप नहीं हो तो आप में आत्मविश्वास की कमी आ जाती है क्योंकि उस पहनावे पर आपको काफी नकारात्मक कमेंट मिलते हैं जिससे आपके आत्मसम्मान को ठेस पहुंचती है। इसलिए जरूरी है कि आप अपनी शारीरिक प्रकृति के अनुसार वस्त्र धारण करें इससे आपको भी अच्छा लगेगा और आपके ईदगिर्द लोग भी आपके पहनावे की प्रशंसा करेंगे जिससे आपमें आत्मविश्वास की भावना उजागर होगी।

7. यदि कुछ टुटें तो खुद को सम्हाले

जिंदगी के हर मोड़ पर चाहे वो आपके लिए नया बदलाव लाएं या दुख का पहाड़ पर आपको अपने आत्मविश्वास की रक्षा सदैव ही करनी है। किसी का नजरिया आपके प्रति कैसा भी हो आप एक अलग पहचान रखते हैं और आपमें हर कार्य करने की क्षमता है बस इस विश्वास को लेकर अपने साथ चले और अपने आत्मविश्वास को कम न होने दें। अपने प्रति अपने व्यवहार को समझें और अपनी मन की शांति और सकारात्मकता का भाव रखें। आत्मविश्वास से आपके व्यक्तित्व का निर्माण होगा और समाज के लोग आपको सम्मान के भाव से देखेंगे। यह कथन सदैव याद रखे। आत्मविश्वास से इंसान की पहचान निखरती है उसका अस्तित्व समाज में और तेजी से उभर कर लोगों के सामने आता है। आत्मविश्वास से पूर्ण व्यक्ति जीवन की हर कठिनाई का सामना बहुत ही शांत तथा सहज रूप से करता है और ऐसा व्यक्ति ही संपूर्ण कहलाता है। 

उम्मीद है कि आपको हमारे पोस्ट आत्मविश्वास कैसे बढ़ाये काफी पसंद आई होगी, और काफी मददगार रही होगी।

हमारे अन्य लेख भी पढ़ें  

कोई टिप्पणी नहीं:
Write comment

अपने विचार comment कर बताएं हम आपके comment का इंतजार कर रहें हैं।