Har din kuch naya sikhe

Learn Something New Every Day.

7/21/2020

स्विट्जरलैंड की संघीय व्यवस्था

By:   Last Updated: in: ,



स्विट्जरलैंड की संघीय व्यवस्था

स्विट्जरलैंड की कार्यपालिका को संघीय परिषद् कहा जाता है। विश्व के अन्य देशों की कार्यपालिका मे स्विट्ज़रलैंड की कार्यपालिका एक अद्वितीय कार्यपालिका है। सी. एफ. स्ट्रांग के मतानुसार " यह विश्व की संवैधानिक पद्धतियों मे सर्वाधिक अनुपम है। इसके संगठन अथवा शक्तियों की दृष्टि से ही नही बल्कि व्यवस्थापिका से इसका जो सम्बन्ध है उसकी दृष्टि से भी संघीय परिषद् का कोई सादृश्य नही मिलता। व्यवस्थापिका और कार्यपालिका के सम्बन्ध के आधार पर विश्व की प्रायः सभी शासन पद्धतियों को दो भागों मे विभाजित किया जा सकता हैं--- संसदीय और अध्यक्षीय लेकिन स्विय कार्यपालिका इन दोनों पद्धतियों से भिन्न है। यह विशुद्ध रूप से न तो संसदात्मक पद्धति है और न ही अध्यक्षात्मक पद्धति। इसमे दोनों के ही गुणों का समावेश है।
स्विस संघीय परिषद् का संगठन

संघीय परिषद् का संगठन (svis sanghiy parishad ka sangathan)

स्विस संविधान के अनुच्छेद 95 के अनुसार " स्विस राज्यमण्डल की सर्वोच्च निर्देशन व कार्यपालिका शक्ति  7 सदस्यों की एक संघीय परिषद् द्वारा प्रयुक्त की जाती है। इससे स्पष्ट होता है कि स्विस कार्यपालिका की शक्ति एक व्यक्ति मे निहित न होकर एक परिषद् द्वारा प्रयुक्त की जाती है। जिसके सभी सातों सदस्यों की शक्तियाँ समान हैं। इसलिए स्विट्जरलैंड की कार्यपालिका को एक "बहुल कार्यपालिका" कहा जाता है। संघीय परिषद् मे 7 सदस्य होते है। जिनका निर्वाचन स्विटजरलैण्ड की व्यवस्थापिका अर्थात् संघीय सभा के दोनों सदनों की संयुक्त बैठक द्वारा किया जाता है।
स्विस संविधान के प्रावधानों के अनुसार कोई भी स्विस नागरिक, जो राष्ट्रीय परिषद का सदस्य चुने जाने के योग्य है, संघीय परिषद् का सदस्य चुने जाने के योग्य है। इस सम्बन्ध मे मात्र दो वैधानिक प्रतिबंध हैं---
पथम, संविधान के अनुच्छेद 96 के अनुसार एक कैण्टन मे से केवल एक ही व्यक्ति संघीय परिषद् का सदस्य निर्वाचित किया जा सकता है।
द्दितीय, ऐसे कोई भी दो व्यक्ति, जो रक्त या वैवाहिक संबंध द्वारा सम्बद्ध हो, एक साथ संघीय परिषद् के सदस्य नही हो सकते है।
इसके अतिरिक्त संघीय परिषद् के गठन के सम्बन्ध मे दो महत्वपूर्ण परम्परा भी प्रचलित है---
1. स्विट्जरलैंड के दो बड़े और प्रमुख कैण्टनों- बर्न व च्युरिच को संघीय परिषद् मे अवश्य ही प्रतिनिधित्व दिया जाता है। यह विशेष स्थिति फ्रेंच भाषा-भाषी कैण्टन वाउद को भी प्राप्त है।
2. संघीय परिषद् मे चार जर्मन भाषा-भाषी, दो फ्रेंच भाषा-भाषी और एक इटालियन भाषा-भाषी होता ही है।
इसके अतिरिक्त, सामान्य तौर पर समस्त दलों को संघीय परिषद् मे प्रतिनिधित्व दिया जाता है। संवैधानिक व्यवस्था के अनुसार संघीय परिषद् के सदस्य प्रायः संघीय सभा के सदस्यों मे से निर्वाचित किये जाते है, और संघीय परिषद् के लिए चुने जाते ही वे संघीय सभा (व्यवस्थापिका) की सदस्यता छोड़ देते है।

कार्यकाल
स्विट्जरलैंड में संघीय परिषद् का कार्यकाल 4 वर्ष निर्धारित है। इसका निर्वाचन प्रत्येक चौथे साल नवीन संघीय सभा के गठन के तुरंत बाद किया जाता है। यदि किसी कारण कारण से संघीय सभा 4 वर्ष के निर्धारित कार्यकाल से पहले ही विघटित हो जाती है तो उसी के साथ-साथ संघीय परिषद् भी समाप्त हो जाती है। नयी संघीय सभा द्वारा नयी संघीय परिषद् का निर्वाचन किया जाता है। संघीय परिषद् के सदस्य के पुनर्निर्वाचन पर किसी प्रकार का कोई प्रतिबंध नही है। इसी वजह से स्विस संघीय परिषद् मे एक ही सदस्य लम्बे समय तक सदस्य बना रहता हैं।
वेतन, विशेषाधिकार व उन्मुक्तियाँ
स्विस संघीय परिषद् के प्रत्येक सदस्य को 80 हजार फ्रेंक वार्षिक वेतन प्राप्त होता है। अध्यक्ष को अन्य सदस्यों की तुलना मे 10 हजार फ्रेंक अधिक प्राप्त होते है। 55 वर्ष से अधिक आयु प्राप्त सदस्यों को यदि उन्होंने 10 वर्ष तक परिषद् के सदस्य के बतौर कार्य किया है तो उन्हें निवृत्ति के बाद वेतन के रूप मे कुल वेतन का 40-60 प्रतिशत दिया जाता है। संघीय परिषद् के सदस्यों को लगभग वे ही विशेषाधिकार और उन्मुक्तियाँ प्राप्त है जो संघीय सभा के सदस्यों को प्राप्त होती है।

अध्यक्ष और उपाध्यक्ष
संघीय परिषद् का एक अध्यक्ष और एक उपाध्यक्ष होता है। यह अध्यक्ष ही स्विट्जरलैंड का राष्ट्रपति भी होता है। संघीय सभा के दोनों सदन अपनी एक संयुक्त बैठक मे संघीय परिषद् के सदस्यों मे से ही एक अध्यक्ष और एक उपाध्यक्ष का चुनाव एक वर्ष के लिए करते है। कोई भी व्यक्ति इस पद पर लगातार दो बार नही चुना जा सकता।
स्त्रोत; मध्यप्रदेश हिन्दी ग्रन्थ अकादमी।

कोई टिप्पणी नहीं:
Write comment

अपने विचार comment कर बताएं हम आपके comment का इंतजार कर रहें हैं।