9/30/2020

मैक्स वेबर का जीवन परिचय

By:   Last Updated: in: ,

मैक्स वेबर का जीवन परिचय 

जर्मन विचारक मैक्स वेबर का जन्म 12 अप्रैल, 1864 मे जर्मनी के इरफुर्ट थ्रिंगिया (Erfrurt Thringia) नामक स्थान मे एक सम्पन्न परिवार मे हुआ था। मैक्स वेबर के पिता पेशे से वकील थे तथा बिस्मार्क के समय मे जर्मनी की संसद मे राष्ट्रीय उदार दलीय सदस्य थे। इस कारण मैक्स वेबर के घर मे जर्मनी के प्रमुख राजनीतिज्ञों तथा बर्लिन विश्वविद्यालय के प्राध्यापकों का आना-जाना लगा रहता था। अतएव बाल्यावस्था से ही बेवर पर इन राजनेताओं के विचारों व दृष्टिकोण का प्रभाव पड़ने लगा। 

वेबर ने प्रारंभिक शिक्षा बर्लिन मे ही प्राप्त की। सन् 1882 मे स्कूली शिक्षा समाप्त करने के पश्चात उन्होंने हाइडेलबर्ग विश्वविद्यालय मे कानून की पढाई प्रारंभ कर दी। 1883 मे उन्होने सैनिक शिक्षा के लिये अपनी सेवाएँ दी। सन् 1886 मे वेबर ने बर्लिन विश्वविद्यालय से कानून की शिक्षा पूरी की तथा सन् 1889 मे डाॅक्ट्रेट की उपाधि प्राप्त की। उनके शोध प्रबंध का विषय था "मध्ययुगीन व्यापारिक संगठनों का इतिहास।" बौद्धिक क्षेत्र मे वेबर के योगदान की शुरुआत 1889 से प्रारंभ हुई। सन् 1891 मे ही मैक्स वेबर "मेरियन श्निटजर" के साथ विवाह सूत्र मे बँध गये तथा विवाह के पश्चात वे अपने माता-पिता से अलग रहने लगे। सन् 1892 मे वेबर की 900 पृष्ठों की एक पुस्तक "रोम का खोतिहर इतिहास तथा सार्वजनिक और वैयक्तिक कानून की महत्ता" शीर्षक से प्रकाशित हुई।

1894 मे वेबर ने फ्रेलबर्ग विश्वविद्यालय मे अर्थशास्त्र के प्रोफेसर का पद सँभाला फिर 1896 मे हाइडेलबर्ग विश्वविद्यालय मे प्रोफेसर का पद ग्रहण किया। 1897 मे 33 वर्ष की आयु मे वेबर मानसिक बीमारी से ग्रसित हो गये। लगभग चार वर्षों तक वे इस बीमारी से जूझते रहे। स्वास्थ्य मे सुधार होने पर उनकी रूचि धार्मिक विश्वासो और आर्थिक क्रियाओं के अध्ययन के प्रति जाग्रत हो गयी। सन् 1904 मे वेबर को सेंट लुई मे आयोजित वैज्ञानिक विश्व कांग्रेस मे भाग लेने के लिये अमेरिका जाने का अवसर प्राप्त हुआ। तीन माह की अमेरिका यात्रा मे वेबर अमेरिकी संस्कृति से अत्यधिक प्रभावित हुए तथा प्रोटेस्टेंट आचार तथा पूँजीवाद का अध्ययन, नौकरशाही, अमेरिकी राजनैतिक संरचना मे राष्ट्रपति की भूमिका पर अध्ययन किया। सन् 1918 मे उन्होंने वियना विश्वविद्यालय मे एक अतिथि प्रोफेसर के रूप मे कार्य किया। सन् 1919 मे म्यूनिख विश्वविद्यालय मे अर्थशास्त्र के नियमित प्रोफेसर हो गये। वेबर ने एक सामाजिक पत्रिका (Social Reform and Social Politics) का सम्पादन किया। वेबर को 'वारसाई में जर्मन युद्ध-विश्रान्ति आयोग' और 'वेमर (Weimar) संविधान' का मसविदा तैयार करने वाले आयोग का सलाहकार भी बनाया गया। 14 जून, 1920 को म्यूनिख मे वेबर का मात्र 56 वर्ष की आयु मे निधन हो गया।

संदर्भ; मध्यप्रदेश हिन्दी ग्रन्थ अकादमी, लेखक डाॅ. (श्रीमती) मीना जैन।

आपको यह भी जरूर पढ़ना चाहिए;मैक्स वेबर का जीवन परिचय

आपको यह भी जरूर पढ़ना चाहिए;दुर्खीम का जीवन परिचय

आपको यह भी जरूर पढ़ना चाहिए;अगस्त काम्टे का जीवन परिचय

कोई टिप्पणी नहीं:
Write comment

अपने विचार comment कर बताएं हम आपके comment का इंतजार कर रहें हैं।