har din kuch naya sikhe

हर दिन कुछ नया सीखें।

2/23/2021

उत्तरदायित्व लेखांकन लाभ, सीमाएं/दोष

By:   Last Updated: in: ,

उत्तरदायित्व लेखांकन के लाभ/महत्व  (uttardayitva lekhankan ke labha)

उत्तरदायित्व लेखांकन के लाभ इस प्रकार है--

1. लागय नियंत्रण का उपयोगी साधन 

उत्तरदायित्व लेखांकन मे प्रत्येक अधिकारी को उसके केन्द्र की क्रियाओं और लागतों के लिए प्रत्यक्ष रूप मे समद्ध कर संस्था मे प्रभावपूर्ण लागत नियंत्रण किया जाता है। इसमे कार्यरत प्रत्येक व्यक्ति के दायित्व व अधिकारों का स्पष्ट विभाजन किया जाता है तथा प्रत्येक केन्द्र पर केवल नियंत्रणीय लगतों को ही संकलित किया जाता है। अतः इसमे अधिकारियों को उनके केन्द्र की क्रियाओं के लिए उत्तरदायी ठहराया जा सकता है। अतः इसमे अधिकारियों को उनके केन्द्र की क्रियाओं के लिए उत्तरदायी ठहराया जा सकता है और इस प्रकार लागत नियंत्रण को प्रभावी बनाया जा सकता है। 

यह भी पढ़ें; उत्तरदायित्व लेखांकन क्या है? परिभाषा, विशेषताएं

2. बजट प्रणाली की कुशलता मे वृद्धि 

कोई भी बजट पद्धति तब तक पूर्ण नही हो सकती जब तक कि प्रत्येक उत्तरदायी अधिकारी यह नही सोचने लगे कि बजट उसका बजट है, न कि उस पर थोपी गई एक योजना। उत्तरदायित्व लेखांकन मे प्रत्येक व्यक्ति को उसके केन्द्र की क्रियाओं से संबंधित करके उसमे यह भावना विकसित की जा सकती है।

3. संस्था की कार्यक्षमता एवं उत्पादकता मे वृद्धि 

चूंकि इसमे कुशल कर्मचारियों को पुरस्कृत किया जाता है और अकुशल कर्मचारियों को दण्डित भी किया जाता है। इससे संस्था की कार्यक्षमता एवं उत्पादकता मे वृद्धि होती है।

4. व्यावसायिक नियोजन के लाभ 

इस पद्धति मे व्यावसायिक नियोजन के सभी लाभ मिलते है।

5. निर्णयन मे सहायक 

उत्तरदायित्व लेखांकन केवल नियंत्रण युक्ति ही नही है बल्कि निर्णयन मे भी सहायक होता है। उत्तरदायित्व लेखांकन से संकलित समंक प्रबंध को भविष्य के संबंध मे नियोजन करने तथा निर्णयन मे अत्यन्त ही लाभप्रद साबित होते है। विभिन्न लागत केन्द्रों के निष्पादन भविष्य के लक्ष्य निर्धारण मे काफी सहायक साबित होते है। इस प्रकार यह विधि प्रबंध को महत्वपूर्ण निर्णयन मे बल प्रदान करती है।

6. निष्पादन मे सुधार 

व्यक्ति विशेष का उत्तरदायित्व निर्धारित करना अभिप्रेरणा तत्व के रूप मे कार्य करना है। विभिन्न विभागों के प्रभारी यह जानते है कि उनके निष्पादन की सूचना उच्च प्रबंध को प्रेषित कर दी जायेगी जिससे वे अपने निष्पादन को सुधारने का हर संभव प्रत्यन करते है। यदि उनका निष्पादन (वास्तविक) प्रमाप से कम होता है तो उनसे स्पष्टीकरण मांगा जायेंगा, यह भय उनके विभाग मे बना रहता है, जिससे वह कार्य के प्रति सावधान रहते है।

7. सही समय पर सुधारात्मक कदम 

चूंकि प्रत्येक केन्द्र का निष्पादन प्रतिवेदन सही समय पर उच्च स्तरीय प्रबंध के समक्ष प्रस्तुत कर दिया जाता है जिसके आधार पर प्रबंध आवश्यक कार्यवाही समुचित समय मे करने मे समक्ष हो पाता है तथा प्रमापित निष्पादन एवं वास्तविक निष्पादन मे यदि अंतर हो तो उसे दूर किया जा सके, ताकि भविष्य मे इसकी पुनरावृत्ति नही हो।

उत्तरदायित्व लेखांकन की सीमाएं/समस्याएं/दोष

uttardayitva lekhankan ki simaye;उत्तरदायित्व लेखांकन के उपरोक्त लाभों के होने के बाद भी विभागीय कुशलता का मूल्यांकन एक जटिल कार्य है। प्रबंध को इसे एक प्रभावशाली उपकरण के रूप मे प्रयोग करने मे कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। जिनमे से निम्न इस प्रकार है--

1. उत्तरदायित्व निर्धारण मे कठिनाई 

सभी केन्द्रों के लिए स्पष्ट उत्तरदायित्व निर्धारण करना मुमकिन नही होता है, क्योंकि कभी-कभी लक्ष्य गुणात्मक रूप मे व्यक्त किये जा सकते है। संख्यात्मक रूप मे व्यक्त नही किये जा सकते है।

2. उत्तरदायित्व से बचना 

उत्तरदायित्व लेखांकन मानव के व्यवहार पर आधारित होता है, जो समय के साथ बदलता रहता है। सामान्यतः प्रत्येक व्यक्ति उत्तरदायित्व से बजना चाहता है, इसलिए इनका कर्मचारियों से विरोध होता है।

3. लागत वर्गीकरण मे कठिनाई 

लागतों के परम्परागत वर्गीकरण जैसे कारखाना उपरिव्यय, प्रशासनिक उपरिव्यय एवं विक्रय उपरिव्यय या स्थिर परिवर्तनशील उपरिव्यय के स्थान पर लागतों को नियन्त्रणीय एवं अनियन्त्रणीय लागतों मे वर्गीकृत करना आवश्यक है। इस प्रकार से लागतों को वर्गीकृत करने मे कई प्रकार की कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।

4. समूह भावना का अभाव 

विभाग अपने लाभों को बढ़ाना चाहता है, चाहे दूसरे विभाग के लाभ कम हो जायें, इससे समय भावना नही रह पाती है। विभाग आपस मे कार्यकुशलता की तुलना करते समय संग बना लेते है तथा यदि श्रमिकों का स्थानांतरण अधिक कुशल विभाग से कम कुशल विभाग मे होता है, तो कर्मचारियों मे विरोध होता है।

शायद यह जानकारी आपके लिए काफी उपयोगी सिद्ध होंगी

कोई टिप्पणी नहीं:
Write comment

अपने विचार comment कर बताएं हम आपके comment का इंतजार कर रहें हैं।