har din kuch naya sikhe

हर दिन कुछ नया सीखें।

2/19/2021

अवशोषण लागत का अर्थ

By:   Last Updated: in: ,

अवशोषण लागत विधि का अर्थ (avshoshan lagat kya hai)

अवशोषण लागत विधि को कुल लागत विधि या परम्परागत लागत पद्धति के नाम से भी जाना जाता है। इस पद्धति के अंतर्गत वस्तु की कुल लागत विभिन्न चरणों मे ज्ञात की जाती है। अर्थात् इकाई लागत पद्धति के अंतर्गत वस्तु लागत ज्ञात की जाती है। सर्वप्रथम सामग्री एवं प्रत्यक्ष व्यय जोड़कर मूल लागत ज्ञात की जाती है। इसके बाद कारखाना व्यय जोड़कर कारखाना लागत ज्ञात की जाती है। इसके बाद इसमे कार्यालय व्यय जोड़कर उत्पादन लागत ज्ञात की जाती है। उत्पादन लागत मे विक्रय एवं वितरण व्यय जोड़कर विक्रय की लागत ज्ञात की जाती है इस प्रकार विक्रय की लागत मे लाभ जोड़ दिया जाये तो कुल विक्रय ज्ञात की जा सकती है।

यह भी पढ़ें; अवशोषण लागत लेखांकन और सीमान्त लेखांकन मे अंतर

शायद यह जानकारी आपके लिए काफी उपयोगी सिद्ध होंगी

कोई टिप्पणी नहीं:
Write comment

अपने विचार, सवाल या सुझाव हमें comment कर बताएं हम आपके comment का बेसब्री इंतजार कर रहें हैं।