10/14/2020

कुषाण कौन थे?

By:   Last Updated: in: ,

कुषाण कौन थे? (kushan kon the)

भारतीय इतिहास मे मौर्य वंश के बाद और गुप्त काल के पहले का समय विविध शासकों और वंशो के उत्थान-पतन का समय रहा है। इस बीच कई विदेशी जातियों ने भी भारत के कुछ प्रदेशों पर शासन किया था। इनमे शक, पल्लव और कुषाण शासक प्रसिद्ध है। मौर्यों के पतन के बाद सबसे शक्तिशाली और विस्तृत साम्राज्य स्थापित करने का श्रेय कुषाण शासको को जाता है।

कुषाण कौन थे? इस सम्बध मे विद्वानों मे अत्यधिक मतभेद है। कूछ विद्वान तर्क अथवा मंगोल शाखा से उनका सम्बन्ध मानते है, तो कुछ विद्वान शकों अथवा सीथियनों की ही किसी शाखा से इसका सम्बन्ध मानते है, परन्तु आधुनिक विद्वान इन विचारों से सहमत नही है। ये विद्वान कुषाणों का सम्बन्ध चीन के यूची अथवा तांचेरियन कबीले से मानते है। यह मत सबसे अधिक तर्कसंगत है। इसके अनुसार कुषाण चीन की यू-ची जाति की एक शाखा के लोग थे। यह जाति चीन के कान्सू प्रदेश मे निवास करती थी। इनके पड़ौस की हूण जाति ने लगभग 165 ई. पूर्व मे इन्हे वहां से भगा दिया था। बाद मे यू-ची लोग बैक्ट्रिया सोमडियाना प्रदेश मे बसे और वहां यह जाति पाँच भागो मे विभाजित हो गई। इन्ही मे से एक कुई-शांग अथवा कुषाण जाति मे जानी जाती है। इस शाखा का प्रथम शासक कुजुल कदाफिस था। वह बड़ा वीर और साहसी था। उसने अन्य शाखाओं पर अपना प्रभुत्व स्थापित किया। इस राजकूल मे केवल दो नृपति कुजुल कदफिसिज व विम कैडफिजिस हुए जिनका इतिहास उल्लेखनीय है।

सम्बंधित पोस्ट 

आपको यह जरूर पढ़ना चाहिए;अशोक का धम्म (धर्म) किसे कहते है? अशोक के धम्म के सिद्धांत, विशेषताएं, मान्याएँ, आर्दश

आपको यह जरूर पढ़ना चाहिए;सम्राट अशोक को महान क्यों कहा जाता है? अशोक की उपलब्धियां

आपको यह जरूर पढ़ना चाहिए; मौर्यकालीन कला या स्थापत्य कला

आपको यह जरूर पढ़ना चाहिए; गांधार शैली क्या है? गांधार शैली की विशेषताएं

आपको यह जरूर पढ़ना चाहिए;मथुरा शैली की विशेषताएं

आपको यह जरूर पढ़ना चाहिए;शुंग कौन थे? शुंग वंश की उत्पत्ति

आपको यह जरूर पढ़ना चाहिए; पुष्यमित्र शुंग की उपलब्धियां

आपको यह जरूर पढ़ना चाहिए; मौर्य साम्राज्य के पतन के कारण

आपको यह जरूर पढ़ना चाहिए;कुषाण कौन थे?

आपको यह जरूर पढ़ना चाहिए;गुप्त काल को भारतीय इतिहास का स्वर्ण काल क्यों कहा जाता है

आपको यह जरूर पढ़ना चाहिए;गुप्त काल का सामाजिक जीवन

कोई टिप्पणी नहीं:
Write comment

अपने विचार comment कर बताएं हम आपके comment का इंतजार कर रहें हैं।