8/14/2020

प्रवास क्या है? प्रकार, प्रभाव या परिणाम

By:   Last Updated: in: ,

प्रवास क्या है? प्रवास का अर्थ (pravas kya hai)

प्रवास का आशय एक स्थान को छोड़कर किसी दूसरे स्थान पर वसने से हैं। मानव, जीवन के प्रारंभ से ही प्रवास करता रहा है। मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए खाद्यान्न संकलन, शिकार करने, पानी की तलाश मे आदिमानव घुमन्तु जीवन जीता था। भोजन, आराम और सुरक्षा की दृष्टि से मानव का एक स्थान से दूसरे स्थान पर प्रवास निरंतर चलता रहा है। लेकिन यह प्रवास साधनों के अभाव मे सीमित था। औद्योगीकरण के परिणामस्वरूप यातायात के साधनों की वृद्धि ने मानव की गतिशीलता को आसान कर दिया। प्रवास जनसंख्या परिवर्तन के महत्वपूर्ण आधारों मे से एक है। प्रवास के परिणामस्वरूप सामाजिक परिवर्तन घटित होता है। किसी भी समाज की जनसंख्या तीन आधारों पर परिवर्तित होती है, जन्म, मृत्यु, प्रवास। जन्म और मृत्यु जैविक कारक है। लेकिन प्रवास ऐसा कारक है जो सामाजिक, सांस्कृतिक, आर्थिक आधारों पर प्रभावित होता हैं।

प्रवास की परिभाषा (pravas ki paribhasha)

डेविड हीर के अनुसार " अपने स्वाभाविक निवास से अलग होना प्रवास है।
बर्गेल " प्रवास मानव जनसंख्या मे स्थानान्तरण के लिए प्रयुक्त नाम है।
डाॅ. एस. सी. दुबे " प्रवास सामाजिक परिवर्तन की वह प्रक्रिया है, जिसके द्वारा जनसंख्या का अंतर्गमन तथा बहिर्गमन होता है।

प्रवास के सामान्य प्रकार (pravas ke prakar)

1. आँतरिक प्रवास
एक राष्ट्र के लोगों का उसी राष्ट्र के अंदर किसी स्थान को छोड़कर दूसरे स्थान पर जाना आँतरिक प्रवास कहा जाता है। उदाहरण के लिए उत्तरप्रदेश के लोगों का मध्यप्रदेश आकार वसना। सुविधा की दृष्टि से आँतरिक प्रवास को निम्नलिखित चार भागों मे विभाजित किया जा सकता है--
(अ) गाँवो से नगरो की ओर प्रवास
(ब) एक ग्राम से दूसरे ग्राम की ओर प्रवास
(स) एक नगर से दूसरे नगर की ओर प्रवास
(द) नगर से गाँव की ओर प्रवास।
2. अंतर्राष्ट्रीय प्रवास
ऐसा प्रवास जो एक राष्ट्र की सीमाओं को लांगकर दूसरे राष्ट्र की सीमाओं मे होता है। जब कोई व्यक्ति या समूह एक राजनैतिक राष्ट्रीय सीमा को पार कर दूसरी राजनैतिक राष्ट्रीय सीमा मे प्रवेश करता है, तो उसे अंतर्राष्ट्रीय प्रवास कहते है। वर्तमान समय मे अंतर्राष्ट्रीय प्रवास दो देशों के नियमों के अधीन ही संभव है।

प्रवास के प्रभाव या परिणाम (pravas ke prabhav)

प्रवास के अच्छे और बूरे दोनों तरह के प्रभाव पड़ते है। प्रवास का सबसे बड़ा प्रभाव जनसंख्या के आकार और जीवन के तरीकों पर पड़ता है। एडवर्ड रास का विचार है कि प्रवास के कारण अनुपयुक्त तथा अवांछित तत्वों का विनाश हो जाता है। रास के अनुसार आवास और प्रवास किसी राष्ट्र को मानसिक गतिशीलता प्रदान करते है। जो जाति अपने मूल स्थान से जितनी दूर जाती है, उतनी ही उन्नति करती है। प्रवास के वास्तविक प्रभावों का अध्ययन करना अत्यंत ही कठिन है। इसके प्रभावों को जानने के लिए निम्नलिखित तीन दृष्टिकोण अपनाने होंगे--
(अ) प्रवास के कारण उस जनता पर क्या प्रभाव पड़ा है, जहाँ से व्यक्ति प्रवासित हुए है। उदाहरण के लिए जनसंख्या के दबाव मे कमी तथा आर्थिक अवसरों की सुलभता।
(ब) प्रवास का उस जनता पर क्या प्रभाव पड़ा है, जहाँ व्यक्ति प्रवासित होकर बसे है। स्वभावतः वहां अनेक सामाजिक तथा आर्थिक परिवर्तन होगे।
(स) जो व्यक्ति प्रवासित हुए है, उनके जीवन पर क्या प्रभाव पड़ा है। वे क्या छोड़कर आए? उन्होंने क्या प्राप्त किया? उनकी आशाएं और आकांक्षाएं क्या है।
इस प्रकार प्रवास के प्रभावों को दो प्रकार से विभाजित किया जा सकता है--
1. प्रवास के अच्छे प्रभाव
(अ) आर्थिक अवसरों की समानता
(ब) राष्ट्रीयता एवं अंतर्राष्ट्रीयता का विकास
(स) गाँवो पर घटता जनसंख्या का दबाव
(द) सामाजिक एकता मे वृद्धि
2. प्रवास के बूरे प्रवास
(अ) सांस्कृतिक संघर्ष
(ब) सामाजिक विघटन
(स) निम्म स्वास्थ्य स्तर और कार्यक्षमता मे गिरावट
(द) आवास समस्या आदि।
आपको यह जरूर पढ़ना चाहिए; ग्रामीण समाज का अर्थ, परिभाषा एवं विशेषताएं 
आपको यह जरूर पढ़ना चाहिए; जाति व्यवस्था का अर्थ, परिभाषा एवं विशेषताएं 
आपको यह जरूर पढ़ना चाहिए; व्यवसाय का अर्थ, परिभाषा, प्रकार और मुख्य विशेषताएं 
आपको यह जरूर पढ़ना चाहिए; जजमानी व्यवस्था का अर्थ, परिभाषा एवं विशेषताएं 
आपको यह जरूर पढ़ना चाहिए; जजमानी व्यवस्था के गुण एवं दोष 
आपको यह जरूर पढ़ना चाहिए; सहकारिता का अर्थ, परिभाषा, महत्व एवं विशेषताएं 
आपको यह जरूर पढ़ना चाहिए; ग्रामीण नेतृत्व का अर्थ, परिभाषा एवं विशेषताएं
आपको यह जरूर पढ़ना चाहिए; ग्रामीण गुटबंदी का अर्थ, परिभाषा एवं विशेषताएं
आपको यह जरूर पढ़ना चाहिए; कृषक तनाव क्या है?
आपको यह जरूर पढ़ना चाहिए; प्रवास क्या है? प्रकार, प्रभाव या परिणाम

कोई टिप्पणी नहीं:
Write comment

अपने विचार comment कर बताएं हम आपके comment का इंतजार कर रहें हैं।