har din kuch naya sikhe

हर दिन कुछ नया सीखें।

6/21/2021

प्यार की अधूरी कहानी

By:   Last Updated: in: ,

प्यार की अधूरी कहानी 

pyar ki adhuri kahani;नमस्कार.. दोस्तो आज मै आपको मेरे प्यार की अधूरी कहानी (एकतरफा प्यार की कहानी) सुनाने जा रहा हूं। बात तब की है जब मै सातवी कक्षा मे था। हमारी परीक्षा नजदीक थी तब मुझे एक लडकी से प्यार हुआ। वह दिखने मे बहुत सुंदर थी। जब मुझे यह पता चला की मुझे उससे प्यार हुआ है, तो मै बस उसे ही देखता रहता था।

वह भी मुझे देखकर हल्की सी मुस्कान देती थी। कुछ दिन ऐसा ही चला और परीक्षा की घडी आ गई फिर मेरी बद नसीबी से परीक्षा के लिए उसका और मेरा रूम नंबर अलग-अलग आया उस वक्त मुझ पर पढाई का भी बहुत बोझ था। दिन बित रहे थे आखिरकार परीक्षा खत्म हो गई और गर्मियो की छुट्टिया लग गई।

प्यार की अधूरी कहानी

लेकिन मै उससे बात नही कर पाया छुट्टिया लगने के बाद मै बहुत उदास और बेचैन रहता था। तभी मेरे एक दोस्त ने मुझे बताया कि वह लडकी इसी शहर मे रहती है।  फिर क्या मुझसे रहा नही जा रहा था। मैने उसके घर की तलाश शुरू कर दी और मुझे उसके घर का पता चल गया। 

फिर मै रोज उसके घर के चक्कर लगाने जाता कभी वह बाहर दिखती तो कभी नही दिखती थी। ऐसे ही दिन बीत रहे थे लेकिन अब वो जो पहले करती थी वैसा कुछ नही कर रही थी। अब ना ही वह मेरे तरफ देखती और ना ही मुस्कुराती थी। 

मैने उसे देखता था तो वह मुंह फेर लिया करती थी। फिर मुझे ऐसा पता चला की उस लडकी का बॉयफ्रेंड है फिर क्या मैने उसे भूलना चाहा। जब मै सातवी कक्षा से आठवी कक्षा मे गया तो मैने दूसरी स्कूल मे दाखिला लिया। क्योकी मै चाहता था कि उससे दूर रह सकू उसे देख ना सकू फिर हमारे बीच दुरिया बढ गई। 

एक साल ऐसा ही चलता रहा जब मै नव्वी कक्षा मे गया तो कुछ ऐसी घटनाए होने लगी थी, कि मुझे भी यकीन नही होता था। जब भी मै उसे याद करता वह मुझे कही ना कही दिख ही जाती थी। कभी बाजार मे तो कभी मंदिर मे तो कभी मेरे सामने से गुजरती थी। 

मुझे समझ नही आ रहा था। यह मेरे साथ क्या हो रहा था? मै जिस लडकी को भूलना चाहता हूँ, वह बार-बार मेरे सामने क्यों आती है? शायद किस्मत को कुछ और ही मंजूर था। 

फिर मैने दिल मे ठान लिया था कि उसे अपना बना कर ही रहूंगा और फिर एक साल बाद मै जब दसवी मे गया तो मैने फिर से वह लडकी जिस स्कूल मे थी वही दाखिला लिया। तब मै जब स्कूल जाता तो रोज उसके घर के बाहर से गुजरता था। उसको चुपके से देखता था। जब वह स्कूल से घर जाती तो उसकी कुछ सहेलिया उसके साथ होती थी। इस वजह से मै कभी उससे बात नही कर पाता था। 

ऐसे ही दिन बीत रहे थे लेकिन कहानी मे मोड तब आया जब मैने मोबाइल लिया मुझे एक ऑनलाइन परीक्षा के लिए मोबाइल की जरूरत थी। फिर मैने मोबाइल लिया उसके बाद ऑनलाइन परीक्षा तो अच्छे से निकल गई। 

कुछ दिनों बाद मुझे मालूम पड़ा की उस लडकी ने भी मोबाइल लिया है। फिर क्या मुझसे रहा नही गया और मै तुरंत अपने मोबाइल मे फेसबुक खोल कर उस लडकी की आईडी देखने लगा और क़िस्मत से मुझे उसकी आईडी मिल गई। 

फिर मैने फेसबुक से उसका नंबर लिया और उसकों मैसेज करने लगा पहली बार तो कुछ रिप्लाई नही आया लेकिन दूसरे दिन रिप्लाई आया कि कौन हो तुम? मैने कहा मै तुम्हारा प्रेमी हूं। उसने मुझे ब्लॉक कर दिया उसके बाद मुझे पता चला कि मैने जो मैसेज किये थे, वह उसके छोटी बहन ने उठाए था। फिर मै रोज अलग-अलग नंबर से मैसेज करता और उसकी बहन मुझे कहती की मेरी बहन को भूल जाओ। 

लेकिन मै मानने को तैयार नही था। ऐसा ही कुछ दिनो तक चलता रहा एक दिन जब मैने मैसेज किया तो वह उस लडकी ने उठाया जिससे मै प्यार करता था। उसने कहा तुम कौन हो? और मुझे कैसे जानते हो? मैने उससे सारी सच्चाई बताई फिर उसने कहा तुम मुझसे प्यार करते हो तो तुम्हे मेरी कसम मुझे अपने बारे मे सब कुछ बताओ और अपनी एक फोटो भेजो मुझे तुम्हे देखना है।  

मैने भी अपनी फोटो ज्लदी से भेज दी। फिर उसने कहा तुम मेरे बॉयफ्रेंड के पैरो की धूल भी नही हो! मैने कहा बॉयफ्रेंड कौन बॉयफ्रेंड उसने कहा देखो मेरा बॉयफ्रेंड है और मुझे उसके सिवा कोई भी पसंद नही वह मेरी जान है। मेरी लाइफ लाइन है। 

मैने कहा तो मुझे पहले थोडी ना यह पता था कि तुम्हारा बॉयफ्रेंड है और अगर है भी तो अब मेरा क्या होगा? मै तुम्हे तीन साल से प्यार करता हूं। मै तुम्हे भूल नही सकता। तुम मेरी जिंदगी हो मै तुम्हे जिंदगी भर प्यार करुंगा। लेकिन वह इतनी पत्थर दिल निकली की उसको मेरी बाते फिल्मी डायलॉग लग रही थी। मैने कहा प्लीज मेरी बात सुनो आखिरकार उसने फिर मुझे ब्लॉक कर दिया। 

उसके साथ चैट होने के बाद मै अंदर से टूट चुका था। ऐसा लग रहा था कि अब जिंदगी मे कोई मकसद ही नही रहा जिंदगी खत्म सी हो गई हो। कुछ दिनो तक मै घर मे ही रहता और बेचैन उदास बैठा रहता था और उसके बाद मैने फैसला किया कि कुछ भी हो जाए मै उससे ही प्यार करूंगा। मुझे इससे कोई फर्क नही पड़ता कि वह मुझसे प्यार करें या नफ़रत। क्योंकी वही मेरा पहला प्यार थी और मेरा आखरी प्यार होगी। मै जिंदगी भर उसे पाने की कोशिश करूंगा दोस्तो मै आज भी उसे उतना ही प्यार करता हूँ और अभी भी उसे पाने के लिए मेरी कोशिश जारी है। आपको मेरी कहानी कैसी लगी? नीचे comment कर जरूर बताएं।

ध्यान दे, जैसा की इन्होने कहा कि मैं जिंदगी भर उसे पाने की कोशिश करूंगा। हम इस तरह की विचारधारा का सर्मथन नही करते। क्योंकि किसी को अपनी मर्जी से प्यार करने या न करने का पूरा-पूरा अधिकार है। इसलिए हमारी सलाह है कि ऐसे मे उसे अपना बनाने की वजह उसे अपने दिल और दिमाग मे निकालने की कोशिश करना चाहिए। 

अगर आपके पास अपने एकतरफा प्यार की कोई कहानी है और आप उसे हमारे साथ शेयर करना चाहते है तो आप इस gmail;  kailashmeena2646@gmail.com पर भेजे हम उसे हमारी साइट पर प्रकाशित करेंगे। हम आपकी कहानी को आपके नाम और फोटो के साथ आपकी अनुमति पर प्रकाशित करेंगें। अगर आप चाहें तो इन के बिना भी अपने प्यार की कहानी हमारे साथ शेयर कर सकते हैं। हम आपकी गोपनीयता बनायें रखेंगे। आप अपने प्यार की कहानी हमारे WhatsApp नम्बर  9630152646 पर भी भेज सकते हैं। अपने प्यार की कहानी हमें बताने मैं बिल्कुल भी संकोच ना करें। यह एक प्रकार से हजारों लोगों की मदद होगी आपकी कहानी को पढ़कर एकतरफा प्यार करने वालो को बहुत कुछ सीखने को मिलेगा, देखों किसी से प्रेम हो जाना किसी भी प्रकार से कोई बूरी बात नही हैं, इसलिए अपने प्यार की कहानी को छुपा कर ना रखें उसे हमारे साथ साझा करें, धन्यवाद।

पढिए लव स्टोरी इन हिंदी 

हमारे अन्य लेख भी पढ़ना न भूलें,

कोई टिप्पणी नहीं:
Write comment

अपने विचार comment कर बताएं हम आपके comment का इंतजार कर रहें हैं।