Har din kuch naya sikhe

Learn Something New Every Day.

12/30/2020

व्यावसायिक नीतिशास्त्र क्या है? परिभाषा, मान्यताएं

By:   Last Updated: in: ,

व्यावसायिक नीति शास्त्र क्या है? (vyavsayik niti shastra kise kahte hai)

vyavsayik niti shastra arth paribhasha manyataye;व्यापार, समाज का एक भाग है। इस संदर्भ मे " पीटर ड्रकर " ने कहा है " प्रत्येक व्यक्ति तथा समाज के प्रत्येक अंग को निश्चित नियमो का पालन करना चाहिए एवं न तो व्यापार का कोई अलग से नीतिशास्त्र है तथा न ही इसकी आवश्यकता है।" अतएव ह मनुष्य समाज का अंग है, और उसे निर्णय लेते समय कुछ निश्चित नियमों तथा नैतिक आचरण के सिद्धांतों का अनुसरण अवश्य करना चाहिए। पुरूष हो अथवा महिलाएं अपने कार्य या व्यवसाय के व्यक्तिगत व्यवहार के कारण, साधारण नियमो से छूट नही प्राप्त कर सकते, एवं न ही उपाध्यक्ष जिला प्रबन्धक या काॅलेज डीन बनने के बाद वे सामान्य मनुष्य की श्रेणी से अलग हो जाते है। उनमे भी बहुत से ऐसे लोग होते है जो गलतियाँ करते है, धोखाधड़ी करते है, चोरी करते है, झुठ बोलते है तथा रिश्वत लेते अथवा देते है।

अतः व्यावसायिक नीतिशास्त्र, व्यापार के नैतिक विषयो से सम्बंधित है, ठीक उसी प्रकार जैसे- चिकित्सा-नीतिशास्त्र, चिकित्सा व्यवसाय मे नैतिक मूल्यों से संबंधित है, एवं राजनीतिक नीतिशास्त्र राजनीतिक मे विषयों नैतिकता से संबंधित है। व्यापारिक नीतिशास्त्र मे वे नैतिक सिद्धांत शामिल है, जो व्यापारिक गतिविधियों मे सही या गलत, अच्छे या बूरे, उचित एवं अनुचित आचरण को परिभाषित करते है। यह उन विधियों तथा साधनों का अध्ययन है, जिनका उपयोग किसी व्यापार को चलाने हेतु करना चाहिए एवं जो नैतिक रूप से उचित है। यह उन नैतिक निर्णयों को लेने की विधियों को अपनाता है, जो व्यापार की नीतियों, नियमों तथा मूल्यों से संबंधित है। व्यवसायिक नीतिशास्त्र के कुछ उदाहरण इस प्रकार है-- 

1. ग्राहक को उत्पाद के संभावित खतरों के बारे मे सूचना देना।

2. उचित मूल्य पर वास्तविक/खरा सामान बेचना।

3. करों को ईमानदारी से चुकाना।

4. लाभ प्राप्ति हेतु छल-कपट अथवा धोखाधड़ी न करना।

5. नैतिक मांगो तथा निगम के हितों का मेल करानाय/समझौता कराना।

व्यावसायिक नीतिशास्त्र की परिभाषा (vyavsayik niti shastra ki paribhasha)

रयू तथा बेअर्स के अनुसार," व्यवसायिक नीतिशास्त्र व्यक्तियों तथा संगठनों के दैनिक आचारण के प्रभावों से संबंधित है।" 

कीथ डेविस के शब्दों मे," व्यवसायिक नीतिशास्त्र, समान्य नैतिक नियमों का व्यापार मे उपयोग है।" 

टाॅमस एम. गेरेट के अनुसार," नीतिशास्त्र विशेष रूप से मानवीय लक्ष्यों तथा साधनों के निर्णय का विज्ञान है। यह एक प्रकार से साधनों के नियंत्रण की कला भी है, जिससे वे विशिष्टतः मानवीय लक्ष्यों के काम मे आ सकें।" 

कूण्ट्ज और ओ " डोनेल के अनुसार," नीतिशास्त्र व्यक्तिगत व्यवहार एवं आचरण को स्पष्ट करने के लिए एक सर्वोत्तम सामूहिक शब्द है।" 

अन्य शब्दों मे," व्यवसायिक नैतिकता से आश्य ईमानदारी, सच्चाई, स्पष्टवादिता, सत्य वर्णन, उचित-मूल्य, कम मुनाफा आदि दैनिक मूल्यों से है, जिनका पालन व्यवसायियों को अपने व्यवसाय संचालन मे करना चाहिए। अतः व्यावसायिक नैतिकता एक प्रकार से व्यवसाय की आचार संहिता है।

व्यावसायिक नीतिशास्त्र की मान्यताएं (vyavsayik niti shastra  manyataye)

प्रत्येक शास्त्र एवं विज्ञान की कुछ मान्यताएं होती है, इन्ही मान्यताओं के आधार पर शास्त्र टिका रहता है। व्यवसायिक नीतिशास्त्र की मान्यताएं इस प्रकार से है--

1. व्यावसायिक नीतिशास्त्र मानवीय भावनाओं की अपेक्षा मानवीय मूल्यों तथा सिद्धांतो से अधिक प्रभावित होता है।

2. व्यावसायिक नीतिशास्त्र सामाजिक उत्तरदायित्व का आधार माना जाता है।

3. व्यावसायिक नीतिशास्त्र सत्यता, ईमानदारी, चरित्र, विश्वास, सद् विश्वास आदि नैतिक मानकों को व्यवसाय के क्षेत्र मे अपनाने पर बल देता है।

4. व्यावसायिक नीतिशास्त्र मे सभी नैतिक मार्गदर्शन मानक शामिल किए जाते है।

5. व्यावसायिक नीतिशास्त्र की एक प्रमुख मान्यता यह है कि व्यवसाय की दीर्घकालीन सफलता का संबंध व्यावसायिक नीतिशास्त्र के अनुपालन से है।

6. व्यावसायिक नीतिशास्त्र केवल भावनाओं पर आधारित नही होता बल्कि व्यवसायिक वातावरण की वास्तविकताओं, परिवर्तनों, नये मूल्यों व अवधारणाओं पर आधारित होता है।

7. व्यावसायिक नीतिशास्त्र व्यवसाय के आर्थिक उद्देश्यों तथा अन्य उद्देश्यो के बीच सामंजस्य बनाये रखने की भावना पर अधिक बल देता है।

8. व्यावसायिक नीतिशास्त्र मानवीय मूल्यों की पूर्ति के लिए आवश्यक साधनों की व्यवस्था करता है।

9. व्यावसायिक नीतिशास्त्र समग्र नीतिशास्त्र को आधार मानता है।

पढ़ना न भूलें; व्यावसायिक नीतिशास्त्र की विशेषताएं, महत्व या आवश्यकता

शायद यह आपके लिए काफी उपयोगी जानकारी सिद्ध होगी

कोई टिप्पणी नहीं:
Write comment

अपने विचार comment कर बताएं हम आपके comment का इंतजार कर रहें हैं।