बजट किसे कहते है? बजट की परिभाषा

बजट किसे कहते है?

बजट किसी भी शासन के अनुमानित आय-व्यय के लेखे को कहा जाता हैं।
लोक प्रशासन का सबसे महत्वपूर्ण तत्व हैं, वित्तीय व्यवस्था। शासन द्वारा किये जाने वाले सभी कार्यों के लिए धन की आवश्यकता होती हैं। यह धन कहाँ से आयेगा? और यह धन कहाँ-कहाँ खर्च होगा? यह सभी बातें सुविचारित तथा सुव्यवस्थित होनी चाहिए। इसी व्यवस्था को बजट के नाम से जाना जाता हैं।
बजट का अर्थ
स्पष्ट है कि शासन के अनुमानित आय-व्यय के लेखे को बजट कहा जाता हैं। यह लेखा एक वर्ष का हो सकता है या उससे अधिक वर्ष का भी हो सकता हैं। इस लेखे में वर्ष में विभिन्न मदों पर होने वाले व्यय का वर्णन रहता है, साथ ही इस बात का स्पष्ट उल्लेख भी रहता है कि उसके लिए जरूरी धन कहाँ से आयेगा? नये करों का प्रावधान भी उसमें रहता हैं।

बजट क्या होता है? हम यह जान चुके हैं अब हम कुछ विद्वानों द्धारों दी गई बजट परिभाषा जानेंगे।

बजट की परिभाषा 

विलोबी के अनुसार, "बजट शासन की आय-व्यय का सिर्फ अनुमान मात्र नहीं है, वरन् इसमें शब्द अधिक है। यह एक साथ रिर्पोट है, अनुमान है एवं प्रस्ताव है।"

क्लाउडन प्रतिवेदन के अनुसार, "बजट सिर्फ आय तथा व्यय का सामान्य सन्तुलन स्थापित करने का माध्यम नहीं है, वरन् यह एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसमें अर्थव्यवस्था के प्रवाह को प्रवाहित करने के लिए कर तथा व्यय के उपकरण उपयोग मे लाते हैं।"

एक टिप्पणी भेजें

2 टिप्पणियाँ

अपना सवाल या कोई सुझाव हमें बताएं हम आपके comment का इंतजार कर रहें हैं।