Har din kuch naya sikhe

Learn Something New Every Day.

3/23/2021

आकस्मिक आय क्या है?

By:   Last Updated: in: ,

आकस्मिक आय क्या है? (aakasmik aay kise kahte hai)

ऐसी आय जो आकस्मिक प्रवृत्ति की हो, जिसके बार-बार प्राप्त होने की संभावना नही है, निम्न शर्तों की पूर्ति होने पर आकस्मिक आय होती है--

आकस्मिक आय के लिए अनिवार्य है कि--

1. प्राप्ति आकस्मिक हो जिसकी प्राप्ति बार-बार नही होती हो।

2. पूँजी प्राप्ति शीर्षक मे ऐसी प्राप्ति पर कर नही लगता हो।

3. प्राप्ति किसी व्यापार, व्यवसाय अथवा रोजगार से संबंधित नही हो।

4. प्राप्ति किसी कर्मचारी को प्राप्त अतिरिक्त पारिश्रमिक के रूप मे नही हो, जैसे-- वेतन के साथ बोनस अथवा अनुलाभ।

व्यक्तिगत रूप से प्राप्त उपहार की श्रेणी मे नही आते है। अतः ये न तो आकस्मिक आय मे शामिल होंगे एवं न ही इन पर आयकर लगेंगा।

आकस्मिक आय के संबंध मे ध्यान मे रखने योग्य बातें 

1. पारस्परिक स्नेह तथा प्रेम के कारण प्राप्त हुई भेंट अवथा उपहार आय की श्रेणी मे नही आते, अतः करदाता हेतु कर योग्य नही होते। पर इन्हें आकस्मिक आय नहीं माना जाता।

2. व्यापार या पेशे से प्राप्त पूंजी लाभ आकस्मिक आय नही मानी जाती।

3. संपत्ति के हस्तांतरण से प्राप्त पूंजी लाभ आकस्मिक आय नही मानी जाती।

4. बख्शीसें, टिप आदि भी आकस्मिक आय नही होती। जैसे-- टैक्सी ड्रायवर आदि को प्राप्त बख्शीसें आकस्मिक आय नही मानी जाती है।

5. सट्टे के व्यापार से प्राप्त आय आकस्मिक आय नही होती है।

6. किसी चिकित्सक को मरीज से प्राप्त उपहार अथवा अधिवक्ता को अपने मुवक्किल से प्राप्त उपहार भी आकस्मिक आय नही होती।

क्या निम्न प्राप्तियां आकस्मिक आय होगी? 

1. युवराज सिंह को शतक बनाने पर सम्मानित किया गया एवं उन्हें 10 लाख रूपये पुरस्कार के रूप मे दिए गये।

2. सुलेखा ने श्रीलेखा के गुमशुदा कुत्ते को उसके पास बगैर किसी इनाम की जानकारी के पहुँचाया। श्रीलेखा ने सुलेखा को 10 हजार रूपये दिये।

3. दौड़ मे पी. टी. उषा ने 1 लाख रूपये का इनाम जीता।

4. बिपाशा बसु ने ताश के खेल से 20 हजार रूपये कमाये।

5. डाॅ. मीतेश ने एक रोगी को रोगमुक्त किया। रोगी ने फीस के अतिरिक्त 2 हजार रूपये उपहारस्वरूप दिये।

हल--

1. व्यक्तिगत भेंट

व्यक्तिगत भेंट आय नही होती है। युवराज को उपहार व्यक्तिगत भेंट है इसलिए इसे आकस्मिक आय नही माना जा सकता।

2. आकस्मिक प्राप्ति 

इनाम की पूर्व जानकारी नही होने के कारण यह आकस्मिक प्राप्ति होगी। 

3. आकस्मिक प्राप्ति 

दौड़ की आय आकस्मिक प्राप्ति होगी क्योंकि इस तरह की आय मे आय होना निश्चित नही होता।

4. आकस्मिक प्राप्ति 

ताश के खेल की आय आकस्मिक प्राप्ति होगी क्योंकि इस आय की प्राप्ति अनिश्चित होती है।

5. आकस्मिक आय नही 

रोगी द्वारा डाॅक्टर को उपहार आकस्मिक आय नही होती। यह एक तरह से डाॅक्टर की सेवाओं का प्रतिफल है। इसे पेशे की आय मे ही शामिल किया जायेगा।

बताइए कि क्या निम्न प्राप्तियां आकस्मिक आय है?

1. मिस्टर एक्स को पंच का कार्य करने के लिए 10 हजार रूपये प्राप्त हुए, जबकि पारिश्रमिक के लिए कोई प्रावधान नही था।

हल- 

यह प्राप्ति आकस्मिक तथा बारम्बार न होने वाली प्रकृति की है, क्योंकि पारिश्रमिक देने का कोई प्रावधान नही था, अतः यह आकस्मिक आय है।

2. मिस्टर वाय को पंच का कार्य करने के लिए 25 हजार रूपये प्राप्त हुए जिस पर पारिश्रमिक के लिए स्पष्ट तथा निश्चित प्रावधान था।

हल-

पंच का कार्य करने के लिए पारिश्रमिक देने का स्पष्ट प्रावधान था, अतः यह कोई आकस्मिक आय नही है।

3. न्यायालय के आदेश के अनुसार ॠणी मिस्टर वाई पर डिक्री को कार्यान्वित करने से रोकने के लिए डिक्रीधारी मिस्टर एक्स को 10 हजार रूपये ब्याज के प्राप्त हुए।

हल-

डिक्रीदार द्वारा 10 हजार रूपये ब्याज की प्राप्ति आकस्मिक आय नही है।

4. मिस्टर एक्स मिस्टर वाई के यहाँ सेवा कर रहा है। मिस्टर वाई का पुत्र खो गया और मिस्टर एक्स ने बिना पारिश्रमिक के प्रावधान के उसे खोज निकाला, परन्तु मिस्टर वाई ने उसे 10 हजार इनाम मे दिये।

हल-

यह आय आकस्मिक तथा बारम्बार न होने वाली प्रकृति की है, क्योंकि पारिश्रमिक देने का कोई प्रावधान नही था अतः यह आकस्मिक आय है।

कोई टिप्पणी नहीं:
Write comment

अपने विचार comment कर बताएं हम आपके comment का इंतजार कर रहें हैं।