Kailasheducation

शिक्षा से सम्बन्धित सभी लेख

9/27/2019

एकतरफा प्यार किसे कहते हैं एक तरफा प्यार को दो तरफा कैसे करें

Blogger, youtuber और अन्य  प्लेटफार्म के author कृपया कर ध्यान दे, हमारे इस लेख को काॅपी करने की कोशिश न करें, क्योंकि हम copyright strike दे सकते है।
नमस्कार दोस्तो स्वागत है आप सभी का kailasheducation में। प्यार (प्रेम) एक ऐसी चीज है जो चाहने या ना चाहने से नही होता यह तो बस हो जाता है। श्रीकृष्ण के अनुसार प्रेम संसार का सबसे पवित्र बंधन है अगर सच कहे तो यह बंधन से मुक्त हैं। प्रेम वह शक्ति है जो हर बंधन को तोड़ सकती है लेकिन स्वयं कभी किसी के बधंन मे नही फसती।
भागवना श्री कृष्ण ने कहा था की मै विधाता होकर भी विधी के विधान को नही बदल सका" मेरी चाह राधा थी" और मुझे मीरा ने चाहा और मे रूकमणी का हो गया। प्यार दुनिया का सबसे खुबसूरत एहसास है। प्यार कैसे होता है? और प्यार क्यों होता हैं? पिछले लेख मे हम यह जान चुके है। अगर आपने उसे नही पढ़ा है तो आप लाल लाइन पर क्लिक कर उसे पढ़े सकते है। आज के इस लेख मे हम एक तरफा प्यार के बारें मे चर्चा करने जा रहे है जिसमें हम जानेंगे एक तरफा प्यार क्या होता हैं? एक तरफा प्यार की filing एहसास कैसा होता है। एक तरफा प्यार को दो तरफा कैसे करे? एक तरफा प्यार को केसे भूले? तो अब चलिए ज्यादा समय न लेते हुए शुरू करते है......

कृप्या ध्यान दे यह लेख कुछ विशेषज्ञों की राय अनुसार लिखा गया है ऐसे लोग जो एक तरफा प्यार करते है करते थे आदि। गोपनियता बनायें रखने के लिए उनका नाम नही दिया जा रहा हैं।
एकतरफा प्यार
जो लोग किसी के प्रेम को time pass समझते है और जिन लोगों ने किसी को धोखा दिया है। जिन्हे प्रेम बकवास लगता हैं। वे लोग  Please do not read this article This is not for you. क्योंकि यह लेख आपकी सोच बदलने में असर्मथ है।

एकतरफा प्यार किसे कहते है? {ek tarfa pyar kise kahte hai}

एकतरफा प्यार भी ना जाने कैसा होता बाहर से तो खुश होता है आशिक लेकिन अंदर से बहुत रोता हैं। जब लड़का या लड़की मैं से कोई एक प्यार करता है तो उसे एक तरफा प्यार कहते है सच में गजब का प्यार होता है यह। परिस्थियां अलग-अलग हो सकती है जैसे की आप जिससे प्रेम करते है, हो सकता है वह आपको ठीक से जानते भी न हो अगर जानते भी हो तो वह आप का अच्छा या अच्छी दोस्त न हो। आपका एक तरफा प्यार कॉलेज, स्कूल, कोचिंग या फिर आप जहां काम करते है वहा या फिर कही भी हो सकता है।


एकतरफा प्यार किसे कहते है
न तो मैं कोई शायर हूं न मैं तेरा दिवाना न कोई पागल हूं न कोई आवारा और न ही तेरा आशिक हूं, लेकिन जबसे तुमको देखा है कसम से तेरे जैसे हंसी मैंने दुनिया मे कही न देखी।
                                 Author kailash meena 

एक तरफा प्यार का एहसास  कैसा होता है? What happens in feeling of one sided love in hindi 

एक तरफा प्यार मे गजब का एहसास होता है। दिल और दिमाग मे हमेशा एक घबराहट सी बनी रहती है जिन लोगों को one sided love हो जाता है उन्हे पता नही होता की वह भी हमसे प्यार करता है या नही और वह हमारे बारें मे किया सोचता या सोचती हैं। इसलिए घबराहट का होना कोई आच्श्रर्य की बात नही है।

तुम ही से बात करते है और तुम ही से न कह पाते है। कब क्यों कैसे कब मुझे पता नही। कह भी नही पातें और छुपा भी नही पातें।
Author kailash meena
जब हम उसे किसी के साथ बात करते देखते है तो कसम से दिल में आग सी लग जाती हैं और problem यह होती है की हम उससे कुछ कह भी नही सकते है और न ही उससे खुलकर कुछ पुहूंच सकते है ख्वाब मे आकर कब वह नींद खराब कर दे इसका भी कुछ पता नही होता। उसे दिल और दिमाग से निकालना बड़ा मुश्किल हो जाता है।
जब से हमने देखा तुमको न नींद है न करार है दिमाग ने दिल को समझाने की कोशिश की बहुत लेकिन यह दिल कहा मानता है।
                                    Author kailash meena
एक तरफा प्यार मे दिल और दिमाग की आपस में बिल्कुल नही बनती मानों दोनो मे आपस मे युद्ध हो जाता है। दिल बार-बार उसी का ख्याल लाता हैं और दिमाग कहता है रने दे वह तुझसे प्यार नही करती क्यों सोच रहा हैं तू उसके बारें में? छोड़ दे रह प्यार मियार के चक्कर में मत पढ़। भूल जा उसे
कुछ केस में, वह अपने प्रेमी को देखना चाहता है और उससे बात भी करना चाहता है लेकिन जब वह सामने आ जाता है तो सब उल्टा हो जाता है वह उससे अपनी नजरे चुराने गलता है यहां तक की वह उससे बात भी नही करता। उसके सामने ऐसा behavor करता है जैसे मानो की वह उससे नाराज हो।
कुछ केस में, लोग शायद ऐसा इसलिए करते है क्योंकि वह उसे बताना नही चाहते की वह उससे प्यार करते है। क्योंकि शायद उन्हें ऐसा लगता है कि अगर उसे पता चला तो शायद वह बात करना भी छोड़ दे। उसे इस तरह से देखते है कि उसकी नजर हम पे न पढ़े। और कुछ केस में लोग सीधे जा के उसे बता देते है कि मै तुम से प्यार करता हूं ऐसे मे या तो वहां से कोई जबाव ही नही आता या फिर ज्यादातर केस मे वह मना कर देता देती है। जहां से कोई जबाव नही आता वे लोग उम्मीद लगाए हुए होते है की जबाव आएगा और उनका दिल और भी बेचैन हो जाता है और जिन लोगो को जबाव में ना मिलता है उन लोगो के ऊपर क्या गुजरती होगी यह तो वही लोग जान सकते है। बहुत ही कम केस मे वहां से हाँ का जबाव आता हैं।

इसलिए इसका निष्कर्ष यह निकलता है की कोई भी जल्दबाजी करनी की कोशिश न करें पहले उसे समझे और फिर उसे अपने आप को समझाने की कोशिश करें।
एकतरफा प्यार को दो तरफा करने के बारे मे सोच ने है पहले आप इस बात का पता जरूर करले की वह किसी और से प्यार तो नही करती या करता अगर वह किसी और से प्यार करती है तो आप अपने एकतरफा प्यार को दो तरफा करने की बिल्कुल भी कोशिश न करें। प्यार एक ऐसी चीज़ हैं  जिसे दुनिया की कोई भी चीज़ नही खरीद सकती।
तक़दीर ने जो रोका उन्हें,
तो वो उनकी तस्वीरों से
दिल लगाते है,
क्या ख़ूब हैं वो लोग,
जो एकतरफ़ा प्यार को भी
शिद्दत से निभाते है।

एक तरफा प्यार को दो तरफा कैसे करें? {ek tarfa pyar ko do tarfa kaise kare}

एक तरफा प्यार को दो तरफा करने के लिए आपको सबसे ज्याद जरूरत होगी सब्र की। ज्यादतर केस मे देखा गया है की लोग जल्दबाजी मे सब कुछ बिगाड़ देते है और कही के भी नही रहते। इसलिए आपको इस बात का ध्यान रखना है कि सबसे पहले यह जाने की वह आपके बारें मे क्या सोचती है। क्या उसके दिल में आपके लिए जगह है या नही है। अगर नही है तो जगह बनायें उसके दिल मे अपनी। सबसे पहले तो आप उसके दोस्त बनने की कोशिश करें और फिर एक अच्छे दोस्त बनने की कोशिश करें। जब तक आप उसके एक अच्छे दोस्त नही बनेगे तब-तक आप कुछ नही कर सकते इस बात का ध्यान रखें। एक अच्छे दोस्त बनने के लिए आप उसकी पसंद और नापसंद के बारें में जाने और जो उसे पसंद है वही करें। इसके बाद यह जानने की कोशिश करें की क्या मेरे लिए उसके दिल मे जगह है अगर आपको सकारात्मक परिणाम मिलते है तो इसके बाद आप उससे अपनी बात कह सकते है मेरा याकिन मानिए वह न नही कहेंगी। अगर कह भी दें तो नीचे मैने एकतरफा प्यार को भूलने का तरीका भी बताया है।


कैसे भूले एक तरफा प्यार को

एकतरफा प्यार को कैसे भूले (एकतरफा प्यार से बाहर कैसे निकले)

_जो लोग एक तरफा प्यार करते है,_
_अपनी ज़िन्दगी को खुद बर्बाद करते है,_
_नहीं मिलता बिना नसीब के कुछ भी,_
_फिर भी लोग खुद पर अत्याचार करते है.._
एकतरफा प्यार को भूलाने के बहुत से कारण हो सकते है जैसे हो सकता है वो किसी और से प्यार करती हो, या हो सकता हैं वह आपसे स्पष्ट मना कर दें। या ऐसा भी हो सकता है आपको कुछ ऐसे संकेत मिले उसके बारें में जो आपको बिल्कुल भी पसंद न हो। अब आपका जो भी कारण हो। उसे भूलने के लिए अपने परिवार और दोस्तो को समय दे और इस बात का विशेष ध्यान दे आप जिससे एकतरफा प्यार करते है उसे किसी भी प्रकार की हानि पुहूंचानें की कोशिश न करें।

देखो दोस्त यह जरूरी नही है कि हम जिससे प्यार करें वह भी हमसे प्यार करें। हो सकता है वह आप से मना कर दें ऐसे मैं आपको चाहिए की आप किसी भी प्रकार के नशे में धूत न हो अगर आप नशे में धूत होगे तो वह और भी अधिक आपको याद आएगा। अगर आपको प्यार के बदले प्यार न मिले तो कोई बात नही आप हिंसक होने की बजाय अपने कदमों को पीछे कर ले क्या पता भगवान् ने आपके लिए उससे भी अच्छा जीवन साथी चुन रखा हो। हो सकता है कि वह आपके प्यार के लायक ही न हो, हो सकता है कि आप जैसे सच्चे इंसान का प्यार उसकी किस्मत में ही न हो।
तो कैसा लगा आपको यह लेख नीचे comment कर जरूर बताए और एकतरफा प्यार करने वालों के पास इस लेख को शेयर करना बिल्कुल भी न भूले, धन्यवाद।
अगर आपके पास अपने एकतरफा प्यार की कोई कहानी है तो हमें kailashmeena2646@gmail.com पर अपने नाम और फोटू के साथ या इसके बिना भेजे हम उसे kailasheducation.com पर प्रकाशित करेंगे। 

1 टिप्पणी: